Career as Investment Advisor

उदारीकरण के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था में कई तरह के परिवर्तन आए हैं। ब्याज दरों में लगातार गिरावट के कारण बैंकों में पैसा रखना अब पहले की तरह फायदेमंद नहीं रहा। यही कारण है कि लोगों की रुचि शेयर बाजार में बढ़ी है। हालांकि बैंक में पैसा रखने और उसे शेयर बाजार में लगाने में फर्क है। बैंक के विपरीत यहां लाभ की कोई गारंटी नहीं होती और साथ ही पैसा डूबने का जोखिम भी होता है। ऐसे में किसी निवेशक को पूंजी के उचित व सुरक्षित निवेश हेतु सही सुझाव देने का कार्य इनवेस्टमेंट एडवाइजर करता है। कुछ संस्थान इसके लिए कोर्स कराते हैं जिससे कि इस क्षेत्र में आपकी समझ पैनी हो सके।

कार्यप्रणाली

बाजार की जटिल कार्यप्रणाली और अनिश्चितता जैसी स्थितियों के कारण ऐसे प्रोफेशनल्स की जरूरत तेजी से बढ़ी है जो निवेशक को पूंजी के उचित निवेश हेतु सही सुझाव दें ताकि इस निवेश से भविष्य में अधिकतम लाभ मिल सके। ऐसे व्यक्तियों को इनवेस्टमेंट एडवाइजर कहा जाता है। यह निवेश विभिन्न कंपनियों के शेयरों, म्यूचुअल फंड्स या फिर बांड्स में किया जाता है। स्पष्ट है कि इनवेस्टमेंट एडवाइजर निवेशक व बाजार के बीच एक सेतु के रूप में काम करता है।

अगर आप वित्तीय सेवा उद्योग यानी फाइनेंशियल सर्विस इंडस्ट्री में कैरियर बनाने की इच्छा रखते हैं तो सबसे पहले आपको समझना होगा कि यह एक जिम्मेदारी तथा चुनौतीपूर्ण कार्य है। जिम्मेदारी इसलिए क्योंकि आप दूसरों को पूंजी निवेश के लिए सलाह दे रहे हैं और उन्हें आपकी सलाह पर विश्वास है। साथ ही शेयर बाजार की अनिश्चितताओं के चलते पूंजी का समझदारी के साथ निवेश अपने आप में एक चुनौतीपूर्ण कार्य भी है।

क्षमता

एक सफल इनवेस्टमेंट एडवाइजर होने के लिए आपमें दीर्घकालिक विश्लेषण की क्षमता होनी चाहिए। इसके लिए यह आवश्यक है कि आपको मैक्रो और माइक्रो इकोनॉमिक्स, फोरेक्स मार्केट, बाजार के ट्रेंड्स, फाइनांस विकल्प, पोर्टफोलियो मैनेजमेंट आदि बातों का ज्ञान हो। इसके अलावा आपको नवीनतम सरकारी व आर्थिक नीतियों की जानकारी भी होनी चाहिए। यह भी आवश्यक है कि आप बाजार को प्रभावित करने वाले कारकों से भी परिचित हों ताकि सही समय पर सही निर्णय ले सकें।

एक इनवेस्टमेंट एडवाइजर के रूप में आप विभिन्न बैंकों व बीमा कंपनियों में कार्य कर सकते हैं। शुरुआत बहुधा एक्जीक्यूटिव ट्रेनी जैसे पद से होती है औैर इस क्षेत्र में कार्यकुशलता व अनुभव हासिल करने के बाद आप संबंधित विभाग के प्रमुख भी हो सकते हैं। दूसरा विकल्प स्वतंत्र रूप से कार्य करने का भी है। आरंभ में वेतन सामान्यतया आठ से दस हजार के बीच होता है जो अनुभव व कार्य की गुणवत्ता के साथ-साथ डेढ़ लाख रुपये तक भी पहुंच सकता है।

संस्थान:
अलगप्पा यूनिवर्सिटी
अलगप्पा नगर, कराइकुड़ी, तमिलनाडु
फोन:+91-456523065
ईमेल:kkd_alagappa@sach arnet.in
वेबसाइट:www.aluniv.org

कोर्स: 

मास्टर ऑफ इनवेस्टमेंट मैनेजमेंट
इकफाई यूनिवर्सिटी
52, नागार्जुन हिल्स, पुंजागट्टा, हैदराबाद
फोन:+91-040-23435368
ईमेल:info@icfai.org वेबसाइट:www.icfai.org

कोर्स:सर्टिफाइड इंटरनेशनल इनवेस्टमेंट एनालिस्ट (सीआईआईए)
अन्नामलाई यूनिवर्सिटी
अन्नामलाई नगर, तमिलनाडु
फोन:+91-4144-238248
ईमेल:info@annamalaiuniv ersity.ac.in वेबसाइट:annamalafiuniversity.ac.in

कोर्स: मास्टर ऑफ फाइनेंशियल मैनेजमेंट
पांडिचेरी यूनिवर्सिटी
आर वी नगर, कालापेट, पांडिचेरी
फोन:+91-2655991
इंदिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी
मैदानगढ़ी, नई दिल्ली
फोन:+91-29532321
वेबसाइट : www.ignou.edu

कोर्स : एमबीए (बैंकिग एंड फाइनेंस), पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फाइनेंशियल मैनेजमेंट
नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी
कैंप ऑफिस, 9, आदर्श कॉलोनी, किदवई पुरी, पटना
फोन : 061-2214330

कोर्स : पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन फाइनेंशियल मैनेजमेंट
मदुरै कामराज यूनिवर्सिटी
मदुरै, तमिलनाडु
फोन:0452-285466
वेबसाइट : www. mkuniversity .org

कोर्स: मास्टर ऑफ फाइनांस एंड कंट्रोल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *