Study in Britain – UK

वर्तमान में ब्रिटेन में सोलह हजार से भी अधिक भारतीय विद्यार्थी उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। ब्रिटिश सरकार अपने यहां उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए विदेशी छात्रों के लिए दो सौ से भी अधिक स्कॉलरशिप देती है। भारतीय छात्रों को आकर्षित करने के लिए 1989 से चेवनिंग स्कॉलरशिप की शुरुआत की गई। अभी तक 1900 भारतीयों को यह स्कॉलरशिप मिल चुकी है। स्कॉलरशिप विभिन्न क्षेत्रों के प्रोफेशनलों को भी दी जाती है जो ब्रिटेन में पढ़ाई के अलावा ट्रेनिंग पाने के इच्छुक होते हैं।

नई दिल्ली स्थित ब्रिटिश काउंसिल की स्कॉलरशिप हेड रूक्मिणी गोपाल बताती हैं कि 2005 में पूरे देश से इस स्कॉलरशिप के लिए लगभग दो हजार से भी अधिक आवेदन प्राप्त हुए थे जिनमें से कुल 80 अभ्यर्थियों को उच्च शिक्षा और ट्रेनिंग के लिए ब्रिटेन भेजा गया था।

चेवनिंग स्कॉलरशिप के तहत दो स्कीमें ए और बी हैं। स्कीम ए के तहत अभ्यर्थियों को लांग टर्म (ओपन) और स्कीम बी में शार्ट टर्म (प्रोफेशनल) स्कॉलरशिप मिलती है।

स्कीम ए : स्कीम ए के अंतर्गत ओपन सस्टेनेबल डेवलपमेंट स्कॉलरशिप, ओपन इकोनोमिक गवर्नेस, फाइनेंस एंड पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन स्कॉलरशिप, ओपन साइंस एंड इनोवेशन स्कॉलरशिप और इंडियन फ्रेंड ऑफ लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स शेयर्ड स्कालरशिप हैं। स्कीम ए के अंतर्गत विभिन्न ब्रिटिश संस्थानों में एक वर्षीय पोस्ट ग्रेजुएट कोर्सो में दाखिले के इच्छुक अभ्यर्थी ही आवेदन कर सकते हैं।

आवश्यक अर्हता
ओपन सस्टेनेबल डेवलपमेंट स्कॉलरशिप के अंतर्गत मास्टर लेवल के कोर्सो में प्रवेश के लिए उम्र सीमा 30 नवंबर, 2006 तक 25 से 35 वर्ष होनी चाहिए। साथ ही संबंधित क्षेत्र में दो या तीन वर्षो का अनुभव होना भी आवश्यक है। केवल इंडियन फ्रेंड्स ऑफ लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स शेयर्ड स्कॉलरशिप के लिए अनुभव की आवश्यकता नहीं है। इसमें दो छात्रों को ही स्कॉलरशिप मिलती है। इस स्कॉलरशिप के तहत सीधे लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस में प्रवेश के लिए आवेदन करना चाहिए। इस संस्थान में प्रवेश के लिए स्वीकृति पत्र 31 मई तक जमा करना होता है। पता है, ग्रेजुएट स्कूल, एलएसई, हाउटन स्ट्रीट, लंदन, डब्लूसी 2ए 2एई, यूके और बेवसाइट www.lse.ac.uk है।

सत्र :
ब्रिटेन में शैक्षिक सत्र का आरंभ सितंबर या अक्टूबर से होता है।

स्कीम बी :
विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत प्रोफेशनल जो शार्ट टर्म ट्रेनिंग प्रोग्राम के जरिए अपने अनुभव, जानकारी और निपुणता को बढ़ाना चाहते हैं, स्कीम बी के तहत आवेदन कर सकते हैं। इसमें गुरुकुल स्कॉलरशिप इन लीडरशिप एंड एक्सिलेंस, वीमेन इन लीडरशिप एंड मैनेजमेंट प्रोग्राम, यूथ इंडियन प्रिंट जर्नलिस्ट्स प्रोग्राम, यंग इंडियन ब्रॉडकास्ट जर्नलिस्ट्स प्रोग्राम और इनवायरनमेंटल मैनेजमेंट एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट प्रोग्राम कुल पांच स्कॉलरशिप हैं। गुरुकुल स्कॉलरशिप इन लीडरशिप एंड एक्सिलेंस और विमेन इन लीडरशिप एंड मैनेजमेंट प्रोग्राम प्रबंधकीय प्रोग्राम हैं जिसमें केवल एक ही में महिला अभ्यर्थी आवेदन कर सकती हैं।

गुरुकुल स्कॉलरशिप इन लीडरशिप एंड एक्सीलेंस के अंतर्गत 28 से 40 वर्ष के बीच के 12 लोगों को यह स्कॉलरशिप मिलती है। पांच वर्ष तक के कार्यानुभव वाले व्यक्तियों के लिए प्रोग्राम की शुरुआत सितंबर माह से होती है जो लंदन स्कूल ऑफ इकोनामिक्स एंड पॉलिटिकल साइंस में ग्यारह सप्ताह तक चलती है। जानकारी www.lse.ac.uk बेवसाइट पर मिल सकती है। विमेन इन लीडरशिप एंड मैनेजमेंट प्रोग्राम 25 से 40 वर्ष तक की उन्हीं 12 महिलाओं को मिलती है जिन्हें संबंधित कार्यक्षेत्र में पांच वर्ष का अनुभव हो। मई से शुरू होने वाला यह प्रोग्राम 12 सप्ताह का होता है जो ब्रेडफोर्ड सेंटर फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट, यूनिवर्सिटी ऑफ ब्रेडफोर्ड में संचालित किया जाता है। अधिक जानकारी www. bradford.ac.uk पर मिलती है।

यंग इंडियन प्रिंट जर्नलिस्ट प्रोग्राम के तहत 25 से 35 वर्ष के उन बारह प्रिंट जर्नलिस्टों को स्कॉलरशिप दी जाती है जिन्हें अंग्रेजी या किसी भी भारतीय भाषा के समाचारपत्र में कम से कम पांच वर्ष कार्य करने का अनुभव हो। यह प्रोग्राम यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्टमिंस्टर में नवंबर से शुरू होकर कुल 12 सप्ताह तक चलता है। यूनिवर्सिटी की वेबसाइट www.westminster.ac.uk है।

इंडियन ब्रॉडकास्ट जर्नलिस्ट प्रोग्राम स्कॉलरशिप टीवी या रेडियो में कार्यरत लोगों के लिए है। यह प्रोग्राम थामसन फाउंडेशन, कार्डिफ यूनिवर्सिटी में जून से शुरू होता है और 12 सप्ताह तक चलता है। बेवसाइट : www.thomson foundation. co.uk है। इनवायरनमेंट मैनेजमेंट एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट प्रोग्राम के लिए उम्र 30 नवंबर, 2006 तक 25 से 35 के बीच होनी चाहिए। 12 लोगों को दिया जाने वाला यह प्रोग्राम यूनिवर्सिटी ऑफ वेल्स, बेंगोर में 12 सप्ताह के लिए सितंबर के अंत में शुरू होता है। बेवसाइट है www.bangor.ac.uk 

आर्थिक सहायता :
ब्रिटेन के शैक्षिक संस्थानों में स्कीम ए के किसी कोर्स के लिए अधिकतम 12,000 पौंड तक की ट्यूशन फीस के अलावा अंतरराष्ट्रीय हवाई भाड़े को छोड़कर अधिकतम बारह माह तक रहने का खर्च भी मिलता है। स्कीम बी के तहत भी अभ्यर्थियों को प्रोग्राम शुल्क के अलावा रहने-खाने का खर्च मिलता है। ब्रिटिश सरकार मुफ्त वीजा भी मुहैया कराती है।

आवेदन की प्रक्रिया :
स्कीम ए के तहत स्कॉलरशिप पाने के इच्छुक अभ्यर्थियों को पहले ब्रिटिश विश्वविद्यालयों या संस्थानों से अपने पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स के लिए पत्राचार करना होता है, क्योंकि स्कॉलरशिप के लिए आवेदन करते वक्त इनसे पत्राचार का प्रमाण भी देना होता है। कम से कम तीन विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए अवश्य आवेदन करना चाहिए जिससे 31 मई से पूर्व किसी एक संस्थान से प्रवेश की अनुमति पत्र प्राप्त हो सके। स्कीम बी के तहत ब्रिटिश संस्थानों में नहीं बल्कि चेवनिंग स्कॉलरशिप के लिए ही आवेदन करना होता है।

अभ्यर्थियों का चयन :
स्कॉलरशिप के लिए अंतिम चयन शार्ट लिस्ट के बाद व्यक्तिगत साक्षात्कार के बाद ही होता है। इसका आयोजन नई दिल्ली स्थित ब्रिटिश काउंसिल के कार्यालय के अलावा चेन्नई, कोलकाता, मुंबई स्थित किसी एक क्षेत्रीय कार्यालयों में होता है।
साक्षात्कार फरवरी से अप्रैल के बीच होता है। स्कॉलरशिप के संबंध में विस्तृत जानकारी ब्रिटिश काउंसिल के नई दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, मुंबई, अहमदाबाद, बंगलूर, भोपाल, चंडीगढ़ हैदराबाद, पुणे और तिरूवनंतपुरम स्थित केंद्रों से प्राप्त की जा सकती है। नई दिल्ली स्थित ब्रिटिश काउंसिल का पता है, ब्रिटिश काउंसिल, 17, कस्तूरबा गांधी मार्ग, नई दिल्ली-110001
फोन- 011-23711401
बेवसाइट-  www.britishcouncil.org.in/ scholarships
ई-मेल- scholarship@in.british council. org

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *